लिपि किसे कहते हैं? लिपि के कितने प्रकार है?

आज के इस लेख में हम आपको लिपि क्या होती है? या फिर लिपि किसे कहते हैं? और लिपि के कितने प्रकार हैं? इस सभी सवालों के जवाब की जानकारी प्रदान करने वाले हैं। प्राचीन काल से ही एक इंसान से दूसरे इंसान तक अपनी बात पहुंचाने के लिए भाषा का इस्तेमाल करते हैं।

एक इंसान को किसी अन्य इंसान से अपनी बात बोल कर या फिर लिखकर जिस माध्यम का उपयोग किया जाता है, उसे भाषा कहते हैं। जैसे कि आपको पता होगा कि इस धरती पर बहुत सारे भाषाएं मौजूद है और उन सभी भाषाओं के अलग-अलग लिखने का तरीके है, जिसे हम आमतौर पर लिपि कह सकते हैं। लेकिन इसके बारे में सभी जानकारी देने वाले हैं।

लिपि किसे कहते हैं?

किसी भी भाषा की लिखने के ढंग या लिखावट को लिपि कहां जाता है, जिसे लेखन प्रणाली भी कहते हैं। लिपि को आसान भाषा में आपको समझाये तो किसी भी ध्वनि को लिखने के लिए जिन चिन्हों का उपयोग भाषा में किया जाता है, उसे लिपि कहते हैं।

लिपि किसे कहते हैं

बहुत सारे लोग लिपि और भाषा में भ्रमित हो जाते हैं। लेकिन हम आपको बता देना चाहते हैं की लिपि एवं भाषा दो अलग-अलग है।

लिपि के कितने प्रकार है?

इस धरती पर अनेक भाषाएं हैं और उन भाषाओं के उनके अलग-अलग लीपिया है। लेकिन एक अध्ययन से पता चला है कि इस धरती पर मूल तीन प्रकार की लिपियाँ है, जो इस प्रकार है,

लिपि के प्रकार

  • चित्र लिपि
  • अल्फाबेटिक लिपि
  • अल्फासिलैबिक लिपि

चित्र लिपि

चित्र लिपि एक ऐसी लिपि है, जिसमें पुराने जमाने के लोग शब्द और अक्षरों के बदले वस्तुओं और क्रियायों के चित्र के जरिए संदेश प्रकट करते थे। चित्र लिपि की मदद से लोग आसानी से किसी भी विचार एवं अवधारणा को व्यक्त कर सकते है, जैसे कि अगर ईश्वर या धर्म की अवधारणा व्यक्त करना है, तो वे ॐ का चिन्ह वहा बनाया जाता है।

  • प्राचीन मिस्र लिपि – प्राचीन मिस्त्री
  • कांजी लिपि – जापानी
  • चीनी लिपि – चीनी

अल्फाबेटिक लिपि

अल्फाबेटिक लिपि एक ऐसी लिपि है, जिसमें व्यंजन की बाद स्वर अपने पूरे अक्षर का रूप लिए आते हैं।

  • सिरिलिक लिपि – रूसी, सवीयत संघ की बहुत सारे भाषाएँ
  • लैटिन लिपि – अंग्रेजी, जर्मन, फांसीसी, कंप्यूटर प्रोग्रामिंग, पश्चिमी और मध्य यूरोप की सारी भाषाएँ
  • अरबी लिपि – आरबी, कश्मीरी, फ़ारसी, उर्दू
  • इब्रानी लिपि – इब्रानी
  • यूनानी लिपि – यूनानी और थोड़े गणित के चिन्ह

अल्फासिलैबिक लिपि

अल्फासिलैबिक लिपि एक ऐसी लिपि है, जिसमें अगर किसी भी इकाई में व्यंजन नहीं होता तो स्वर का पूरा चिन्ह लिखा जाता है। लेकिन इस लिपि की हर एक इकाई में अगर एक या अधिक व्यंजन होता है, तो उस पर स्वर की मात्रा का चिन्ह लगाया जाता है।

  • देवनागरी लिपि – हिंदी, संस्कृत, मराठी, कोंकणी, नेपाली
  • गुरमुखी लिपि – पंजाबी
  • तमिल लिपि – तमिल
  • गुजराती लिपि – गुजराती
  • बंगाली लिपि – बांग्ला
  • ब्राझि लिपि – कन्नड़, प्राचीन काल में संस्कृत और पाली
  • कानो लिपि – जापानी
  • भारत की अन्य लिपियाँ

तो दोस्तों आज आपने इस लेख से लिपि किसे कहते हैं और लिपि के कुल कितने प्रकार है? इसके बारे में सभी जानकारी हासिल कर ली है। अगर आपको लिपियों के बारे में अधिक जानकारी चाहिए तो, आप अपना सवाल नीचे कमेंट बॉक्स में छोड़ सकते हैं। हम आपकी सहायता करने की हमेशा कोशिश करेंगे।

इसे भी पढ़े:

 

Write a Comment