Koo App क्या है? Koo App का इस्तेमाल कैसे करें?

पिछले कुछ दिनों से भारत में सरकार और ट्विटर के बीच चल रहे झगड़े की वजह से भारत में बने स्वदेशी Koo App बहुत ही चर्चित में है और इसका कारण भी भारत में बढ़ रहे राष्ट्रीयता और ट्विटर के कुछ कारनामे है। यदि आपके मन में भी Koo App क्या है! इसके बारे में संदेह है, तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं।

Koo App को ट्विटर का अल्टरनेटिव भी कह सकते हैं। क्योंकि यह लगभग लगभग ट्विटर की तरह ही काम करता है और इसको ऐप के अंदर ट्विटर से भी ज्यादा अच्छे फीचर्स मौजूद है। इसके अलावा आपको बता दें कि खुद भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जीने भी Koo App के बारे में अपने मन की बात की चर्चा में जिक्र किया था। इसके अलावा दूरसंचार मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद ने भी इसकी तारीफ कर चुके हैं।

Koo App कैसे Popular हुआ?

MyGov और नीति आयोग द्वारा ऑर्गेनाइज किए गए आत्मनिर्भर ऐप चैलेंज से ही Koo App एक चर्चा में आ गया था। क्योंकि उस प्रतियोगिता में Koo App को दूसरा पुरस्कार प्राप्त हुआ था। आपको बता दें कि जब से भारत सरकार ने प्रतिबंधित सोशल मीडिया एप टिक टॉक को भारत में बैन कर दिया था, तबसे सोशल मीडिया पर स्वदेशी एप्स के उपयोग करने की मांग बहुत बढ़ चुकी है।

लोग अब ट्विटर को भी बॉय कट करने की सोच रहे हैं। लेकिन सबसे बड़ा फायदा Koo App को ट्विटर और भारत सरकार की वजह से हुआ है। क्योंकि किसान आंदोलन के बारे में भड़काऊ और दुष्प्रचार बातों को फैला रहे अकाउंट और हैशटैग के खिलाफ ट्विटर ने कार्यवाही करने में देरी की थी, जिस वजह से भारत सरकार ने ट्विटर के खिलाफ सख्त नाराजगी जताई थी। और इस मामले में बहुत सारे लोग भी ट्विटर से नाराज थे।

Koo App Downloads

हालांकि ट्विटर ने भी 500 से ज्यादा अधिक अकाउंट को निलंबित किया था और अभिव्यक्ति की आजादी का हवाला देते हुए अन्य एकाउंट्स को जैसे कि पत्रकार, कार्यकर्ता और नेताओं के अकाउंट पर रोक लगाने से मना कर दिया था। एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 1 महीनों में Koo App की डाउनलोड की संख्या लगभग 15 गुना बढ़ गई है और इसको अभी तक सभी प्लेटफार्म पर 50 लाख से भी ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है और गूगल प्ले स्टोर पर भी लोगों ने इसको 10 लाख से भी ज्यादा बार इंस्टॉल किया है।

Koo App क्या है?

Koo App को अप्रमेय राधा कृष्णा और मयंक विद्वतका जी ने बनाया है और Koo App इस्तेमाल करने के लिए स्थानीय भाषा में मिल जाएंगे, जैसे कि हिंदी, कन्नड़, तमिल और तेलुगू। Koo App को इस के फाउंडर द्वारा 2019 में लांच किया गया था, जो एक माइक्रो ब्लॉगिंग ऐप है, जो कि बिल्कुल ट्विटर की जैसा है।

Koo App क्या है

मतलब इस सोशल मीडिया एप के द्वारा यूजर 400 कैरक्टर्स तक का मैसेज या फिर 1 मिनट तक का वीडियो शेयर कर सकते हैं और यह Koo App गूगल प्ले स्टोर पर और एप्पल प्ले स्टोर पर भी मौजूद है, इसके अलावा इसको ट्विटर की तरह ऑनलाइन ब्राउज़र पर वेबसाइट की मदद से भी उपयोग में लाया जा सकता है।

Koo App का इस्तेमाल कैसे करें?

मोबाइल के लिए Koo App गूगल प्ले स्टोर के अलावा एप्पल के स्टोर पर भी उपलब्ध है, इसी तरह आप को ऑनलाइन अन्य एप स्टोर पर भी डाउनलोड करने के लिए फ्री में मिल जाएगा।

  1. सबसे पहले Koo App को डाउनलोड करके इंस्टॉल करें।
  2. ऐप को ओपन करने के बाद अपना मोबाइल नंबर दर्ज करें।
  3. इसके बाद मोबाइल नंबर पर ओटीपी आने के बाद उसे वेरीफाई करें।
  4. इसके बाद आपका अकाउंट बन जाएगा और नीचे प्रोफाइल एडिट करें।
  5. जैसे कि अपना नाम, प्रोफाइल पिक्चर, कवर फोटो और डेट ऑफ बर्थ जैसे अहम जानकारी भरें।

स्वदेशी ऐप का उपयोग करना भारत के बढ़ते जीडीपी के लिए बहुत ही अच्छा है और इसका 100% कंट्रोल भारतीय के पास रहता है। लेकिन जब हम विदेशी ऐप का इस्तेमाल करते हैं, तो हमारे दिए गए डेटा का गलत इस्तेमाल भी हो सकता है, जिस वजह से हम आपको Koo App को उपयोग करने की सलाह जरूर देंगे।

इन्हें भी पढ़े:

Write a Comment