25 भारत के राज्यों के लोक नृत्य – Folk Dances of India in Hindi

Folk Dances of India in Hindi: अगर आप भारतीय हैं, तो आमतौर पर आपको भारत के संस्कृति के बारे में थोड़ी बहुत तो जानकारी होगी। भारत के राज्यों के लोक नृत्य, यह भारत की सबसे अमूल्य और विविधता से भरी संस्कृति है। पूरे विश्व में भारत के संस्कृति को पसंद किया जाता है और अनेक देशों में भारतीय मूल के लोग मिलकर अपने अपने राज्य के संस्कृति के अनुसार लोक नृत्य करते हैं।

Folk Dances of India in Hindi

आमतौर पर आप भारत में मनाए जाने वाले त्यौहार, उत्सव या फिर पर्व में अनेक भारत के राज्य के विविध लोक नृत्य की झलक देख सकते हैं और यह बहुत ही सुंदर डांस होता है। तो आज हम आपको भारत के सुंदर राज्यों के सुंदर लोक नृत्य की नाम की सूची प्रदान करने वाले हैं।

भारत के राज्यों के लोक नृत्य – Folk Dances of India in Hindi

क्र. राज्यप्रसिद्ध लोक नृत्य
1छत्तीसगढ़पंथी नृत्य
2मध्य प्रदेशपंडवानी, गणगौर नृत्य
3कर्नाटकयक्षगान
4महाराष्ट्रतमाशा, लावणी
5असमबिहू
6गुजरातगरबा
7राजस्थानकालबेलिया, घुमर, तेरहताली, भवाई नृत्य
8केरलकथकली, मोहिनीअट्टम
9आंध्र प्रदेशकुचीपुडी
10ओडिशाओडिसी, धुमरा
11उत्तर प्रदेशनौटंकी
12पंजाबभांगड़ा, गिद्दा
13जम्मू-कश्मीरकूद दंडीनाच, रुऊफ
14उत्तराखंडकजरी, छोलिया
15हिमाचल प्रदेशछपेली,दांगी, थाली
16बिहारछऊ, विदेशिया, जाट- जतिन
17पश्चिम बंगालजात्रा, ढाली, छाऊ
18गोवामंदी, ढकनी
19नागालैंडलीम, छोंग
20झारखंडविदेशिया, छऊ

1. नौटंकी नृत्य

नौटंकी नृत्य उत्तर प्रदेश का बहुत ही प्राचीन है और प्रसिद्ध कला है। नौटंकी नृत्य से किसी भी जीवन की कहानी प्रस्तुत की जा सकती है और छंद, दोहा, हरिगीतिका, कव्वाली, गजल आदि के द्वारा नौटंकी नृत्य प्रस्तुत किया जाता है। इसमें अभिनय और गायन भी शामिल किया जाता है।

2. पंडवानी

पंडवानी बहुत ही लोकप्रिय नृत्य है और ज्यादातर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के राज्य में यह नृत्य देखा जाता है। इस लोक नृत्य मैं गायन एवं नृत्य एक ही व्यक्ति द्वारा किया जाता है और पंडवानी नृत्य के द्वारा पांडवों पर आधारित घटनाओं का चित्रण प्रस्तुत किया जाता है।

3. गणगौर नृत्य

गणगौर नृत्य बहुत ही सुंदर नृत्य है और वहां के लोग गणगौर नृत्य को चैत्र मास की नवरात्रि में करते हैं। इस पर्व को खासतौर पर मां गौरी और भगवान शिव की उपासना के लिए किया जाता है। यह नृत्य रथ सर पर रख कर करते हैं।

4. गरबा

गरबा गुजरात लोकप्रिय नृत्य हैं। इसे आमतौर पर नवरात्रि के 9 दिन गुजरात में खेला जाता है। इसके अलावा भारत के कई अन्य राज्य में भी लोग गरबा खेलते हैं। खासतौर पर गरबा का खेल या फिर नृत्य मां दुर्गा की आराधना के लिए किया जाता है।

5. बिहू

रियान पराग के आईपीएल में डांस की वजह से बहुत सारे लोग अब बिहू नृत्य के बारे में जान चुके हैं। बिहू असम राज्य का लोक नृत्य है और असम के सहारे जनजाति के लोगों द्वारा यह नृत्य किया जाता है। आमतौर पर यह नृत्य फसल की कटाई के दौरान किया जाता है।

6. यक्षगान

भारत का सबसे सुंदर राज्य कर्नाटक का यक्षगान पारंपरिक नृत्य नाटिका है। जिसे कर्नाटक के उडुपी और दक्षिण कन्नड़ जिले में ज्यादातर किया जाता है। इस नृत्य में लोग देवताओं जैसे आभूषण पहनकर रामायण और महाभारत की कहानी प्रस्तुत करते हैं।

7. घूमर

महिलाओं द्वारा लंबे घागरे में एक खूबसूरत घूमर नृत्य को राजस्थान में हर त्यौहार, उत्सव और समारोह में बड़े प्रेम से किया जाता है। आप एक बार जरूर इस नृत्य को देखने राजस्थान जाए।

8. कालबेलिया नृत्य

राजस्थान जैसी सुंदर और प्राचीन राज्य में कालबेलिया नामक खूबसूरत सांस्कृतिक नृत्य किया जाता है और खास तौर पर कालबेलिया नाम की जनजाति यह नृत्य करते है।

9. तेरहताली नृत्य

तेरहताली नृत्य बहुत ही कठिन नृत्य है और राजस्थान में इस नृत्य को महिलाओं द्वारा किया और पुरुषों द्वारा भजन गाया जाता है। इस नृत्य में महिलाएं अपने शरीर पर मंजिरो को बानती है और गीत की लय के साथ उन्हें बजाती है।

10. भवाई नृत्य

आपने बहुत बार सर पर मटका रखकर नृत्य करने वाले दृश्य इससे पहले देखे होंगे और राजस्थान के उदयपुर क्षेत्र में किया जाने वाला नृत्य भवाई नृत्य है। मटको की संख्या 8 से 10 भी हो सकती है और सबसे अनोखी बात यह है कि इस नृत्य को करते वक्त नर्तकी किसी गिलास या थाली के कटाव पर या फिर तलवार पर खड़े होकर नृत्य करते हुए नजर आती है।

11. गिद्दा

आपने पंजाब में महिलाओं द्वारा पंजाबी कपड़े पहन कर नृत्य करते हुए देखा होगा। उस लोकप्रिय नृत्य को गिद्दा नृत्य कहते हैं।

12. भांगड़ा

भांगड़ा के बारे में हमें आपको ज्यादा जानकारी बताने की जरूरत नहीं है। क्योंकि भांगड़ा अब सिर्फ पंजाब का ही नहीं बल्कि पूरे भारत का प्रसिद्ध नृत्य बन चुका है, जो कि खासतौर पर पुरुषों द्वारा किया जाता है और त्योहारों और उत्सवों में इसे पंजाबी लोग करते हैं।

13. लावणी

भांगड़ा की तरह महाराष्ट्र में लावणी नृत्य प्रसिद्ध है। बॉलीवुड के अलावा मराठी चित्रपट में भी बहुत सारे अभिनेत्री लावणी नृत्य करते हुए नजर आती है। यह पारंपरिक नृत्य है और नर्तकी 9 मीटर के साड़ी और श्रृंगार पहन कर यह खूबसूरत नृत्य करती है।

14. तमाशा

महाराष्ट्र का और एक नृत्य का नाम तमाशा नाटिका नृत्य है। जिसे आमतौर पर पुरुष करते हैं। लेकिन महिलाओं का भी इसमें मुख्य भूमिका होती है। इस नृत्य में हारमोनियम, घुंगरू, मंजीरा आदि यंत्रों का प्रयोग नृत्य के समय किया जाता है और इसे महाराष्ट्र में कोल्हाटी समुदाय के लोग करते हैं।

15. रऊफ नृत्य

रऊफ नृत्य भारत के सबसे खूबसूरत राज्य जम्मू-कश्मीर में फसल कटाई के समय महिलाओं के द्वारा किया जाता है।

16. कथकली

कथकली केरल राज्य का बेहद प्रसिद्ध नाटकिय नृत्य है। अर्थात कथकली नृत्य से केरल के लोग विभिन्न पुराणों जैसे महाभारत और रामायण आदि के चरित्रों का रूपांतरण करके कहानी प्रस्तुत करते हैं। यह बहुत ही सुंदर लोक नृत्य में से एक है।

17. मोहिनीअट्टम

मोहिनीअट्टम के नाम से पता चल जाता है कि इस नृत्य से सभी लोग मोहित हो जाते हैं। यह भी केरल का लोकप्रिया नृत्य है, जो कि शास्त्रीय परंपरा पर आधारित है। इस नृत्य में आंखों के, हाथों के तथा चेहरे के हावभाव पर बहुत अधिक महत्व दीया जाता है।

18. कुचिपुड़ी

आपको बता दें कि कुचीपुड़ी आंध्र प्रदेश के एक गांव का नाम है, जिस वजह से इस नृत्य का नाम कुचिपुड़ी पड़ा है। इस नृत्य को बहुत ही पारंपरिक तरीके से किया जाता है। नृत्य के पहले लोग मंच पर भगवान की पूजा आराधना करते हैं। इसके अलावा कर्नाटक के सुंदर संगीतो के साथ मृदंग, वायलिन और आदि यंत्रों का प्रयोग इस नृत्य में शामिल किया जाता है।

19. पंथी नृत्य

छत्तीसगढ़ राज्य के महान संत गुरु घासीदास के बारे में तो आपको पता ही होगा। इस नृत्य का नाम उनकी वजह से पंथी नृत्य रखा गया है। आपको बता दें कि यह लोकनृत्य छत्तीसगढ़ के सतनामी समुदाय के द्वारा किया जाता है। यह लोकनृत्य सफेद धोती पहनकर मृदंग और झांझ की ध्वनि पर करते हैं।

20. छोलिया नृत्य

छोलिया नृत्य कई दशकों पुराना है, जो कि भारत के उत्तराखंड राज्य में किया जाता है। यह सेकड़ो साल पुराना है, जब वहां के लोग तलवार की नोक पर शादी करते थे और विवाह के मौके पर छोलिया नृत्य दुल्हन के घर जाते वक्त पुरुष पारंपरिक वेशभूष पहनकर करते थे।

21. विदेशिया

विदेशिया नृत्य सबसे सुंदर और बुराइयों को समाप्त करने का संदेश देने वाला नृत्य होता है। और विदेशिया नृत्य बिहार के कई ग्रामीण इलाकों में किया जाता है।

22. जात्रा

पश्चिम बंगाल में बंगाली लोगों द्वारा किया जाने वाला नृत्य का नाम जात्रा है। इस नृत्य के भीतर गीत, संगीत, वाद-विवाद आदि किया जाता है।

23. छाऊ नृत्य

एक और पश्चिम बंगाल में किया जाने वाला लोक नृत्य का नाम छाऊ नृत्य हैं, जो कि गीत, संगीत से भरपूर होता है। कई सारे त्योहारों में यह नृत्य पश्चिम बंगाल के अलावा बिहार और उड़ीसा राज्य में भी किया जाता है, जैसे कि सूर्य पूजा के दौरान।

24. थाली

हिमाचल प्रदेश में त्योहार और शादी के दौरान विभिन्न लोक नृत्य किया जाता है, जिसमें से एक है थाली नृत्य। इस नृत्य के दौरान नर्तक एवं गायक एक गोल घेरे में रहते हैं और वहां पर बैठते हैं और एक-एक करके अपनी प्रस्तुति देते हैं। सबसे महत्वपूर्ण और आश्चर्य की बात यह है कि कई बार नर्तक सर पर पानी से भरा लौटा रखकर के यह सुंदर नृत्य करते हैं।

25. उड़ीसी नृत्य

आपको बता दें कि पारंपरिक नृत्य बहुत साल पहले उड़ीसा राज्य के मंदिरों में भक्तों के द्वारा भगवान के लिए बहुत सारे अनेक सुंदर नृत्य किए जाते थे, जिनमें से एक है उड़ीसी नृत्य। इस नृत्य के दौरान नर्तक भगवान कृष्ण और विष्णु के अवतार की कथाएं प्रस्तुत करते हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि ओडिशा के प्रसिद्ध भगवान श्री जगन्नाथ का वर्णन भी इस नृत्य के द्वारा किया जाता है।

यह सभी 25 लोक नृत्य अलग-अलग भारत के राज्यों के हैं, जो कि काफी पसंद किए जाते हैं। इसके अलावा भारत एक ऐसी संस्कृति है, जहां पर ऐसे हजारों नृत्य मौजूद हैं, जिनके बारे में अधिक लोगों को जानकारी नहीं है। इस वजह से आने वाले समय में हम और भारत के कुछ सुंदर राज्य के सुंदर लोक नृत्य के लिस्ट की जानकारी लेकर आएंगे।

इसे पढ़े:

 

Write a Comment