CA क्या है? Chartered Accountant कैसे बने?

क्या आप CA बनना चाहते हैं, लेकिन अभी तक आपको CA कैसे बने और CA बनने के लिए क्या करना चाहिए, इसके बारे में जानकारी नहीं है तो चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं।

इस लेख के जरिए हम आपको CA क्या है और CA बनने के step by step procedure बताने वाले हैं। इसके अलावा इस लेख के अंदर हम आपको योग्यता, परीक्षाएं और जॉब की संभावना के बारे में भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं।

CA क्या है?

CA क्या है

अंग्रेजी में CA का full form chartered accountant होता है। CA का काम वित्तीय लेखा-जोखा तैयार करना, ऑडिट अकाउंट का विश्लेषण करना, टैक्स से संबंधित काम करना और वित्तीय सलाह देना होता है। CA बनने से पहले इसकी परीक्षा में आपको यही सभी चीजें पढ़ाई जाएगी। जब एक बार कोई भी CA की पढ़ाई पूरी कर लेता है, तो उसको बड़ी बड़ी मल्टीनेशनल कंपनी के नौकरी मिलना शुरू हो जाती है। क्योंकि आजकल CA पढ़ाई करने वाले की अहमियत बहुत ज्यादा है।

CA बनने के लिए योग्यता

  • दसवीं पास करने के बाद आप CA CPT एंट्रेंस परीक्षा के लिए आवेदन भर सकते हैं।
  • लेकिन CA परीक्षा 12वीं पास होने के बाद देना होगा।
  • आर्ट्स, कॉमर्स और साइंस के विद्यार्थी इस परीक्षा में आवेदन करके परीक्षा दे सकते हैं।

CA (Chartered Accountant) कैसे बने: Step-by-Step Guide

1. 12वीं पास करें

10वीं परीक्षा पास करने के बाद आप सीधे फाउंडेशन कोर्स परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा आप 12वीं के बाद भी आवेदन कर सकते हैं। लेकिन इस परीक्षा में आप सिर्फ 12वीं के बाद ही बैठ सकते हैं। और बहुत ज्यादा मार्क्स की भी कोई जरूरत नहीं है।

2. फाउंडेशन कोर्स परीक्षा के लिए रजिस्टर करें

पहले फाउंडेशन कोर्स का नाम CPT रखा गया था और यह एंट्री लेवल टेस्ट है। जो कि हर साल मई और नवंबर में होता है। आप (ICAI) the institute of chartered accountants of India की वेबसाइट में जाकर रजिस्टर कर सकते हैं।

3. फाउंडेशन कोर्स टेस्ट क्लियर करें

जब एक बार आप फाउंडेशन कोर्स टेस्ट के लिए रजिस्टर करते हैं, तो उसके बाद आपको इस परीक्षा में बैठकर इस फाउंडेशन कोर्स टेस्ट को क्लियर करना होगा। इस परीक्षा में आपसे एकाउंटिंग, मर्केंटाइल लॉ, बिजनेस इकोनॉमिक्स और जनरल इंग्लिश इत्यादि के ऊपर सवाल पूछे जाएंगे। इस परीक्षा में कुल 4 पेपर होंगे और 4 पेपर 100-100 मार्क्स का होगा। और एक पेपर 3 घंटे का होगा। इसके अलावा एग्जाम के सभी विषय में आपके 40% मार्क्स होने चाहिए और टोटल मार्क्स 50% से ऊपर होने चाहिए।

4. इंटरमीडिएट कोर्स के लिए रजिस्टर करें

जब एक बार आप CA फाउंडेशन कोर्स को रजिस्टर करके सभी एग्जाम में अच्छे मार्क्स लाकर क्लियर कर देते हैं, तो उसके बाद आपको इंटरमीडिएट कोर्स के लिए रजिस्टर करना होगा। इस कोर्स को IPCC भी कहते हैं इस का full form integrated professional competency course है।

5. इंटरमीडिएट कोर्स क्लियर करें

यह CA बनने के राह में 5वा चरण है। इस वजह से आगे के चरण तक पहुंचने के लिए आपको सबसे पहले इंटरमीडिएट कोर्स को क्लियर करना बेहद जरूरी है। इसके अलावा आप इंटरमीडिएट कोर्स क्लियर किए बिना आगे के चरण में पहुंच सकते हैं इसके बारे में जानकारी हमें नीचे दी है।

6. CA आर्टिकलशिप के लिए अप्लाई करें

जब आप इंटरमीडिएट कोर्स की सभी परीक्षाएं पास कर लेते हैं, तो उसके बाद आपको 3 साल की CA की ट्रेनिंग लेनी होती है। आपको बता दें कि इसको पूरी तरह से कंप्लीट करने के बाद आप CA बनने के लिए फाइनल परीक्षा में अप्लाई कर सकते हैं। जैसे आपको advanced integrated course for information technology and soft skills को पूरा करना होगा।

7. CA फाइनल कोर्स को क्लियर करें

आर्टिकलशिप की प्रैक्टिकल ट्रेनिंग के 3 साल के 6 महीने पहले आप CA के फाइनल परीक्षा को दे सकते हैं। इस एग्जाम के लिए आपको जी तोड़ मेहनत करनी पड़ेगी। क्योंकि यह सबसे कठिन परीक्षा है। इस परीक्षा को दो ग्रुप में बांटा गया है ग्रुप 1 और ग्रुप 2।

  • ग्रुप 1 में 4 पेपर होंगे फाइनेंशियल रिर्पोटिंग, स्ट्रैटेजिक फाइनेंशियल मैनेजमेंट, एडवांस ऑडिटिंग एंड प्रोफेशनल एथिक्स और कॉरपोरेट एंड एलाइड लॉस।
  • ग्रुप 2 में भी चार पेपर होंगे एडवांस्ड मैनेजमेंट अकाउंटिंग, इनफॉरमेशन सिस्टम कंट्रोल एंड ऑडिट, डायरेक्ट टैक्स लॉस और इनडायरेक्ट टैक्स लॉस।

अगर आप कॉमर्स स्ट्रीम से ग्रेजुएट या फिर पोस्ट ग्रेजुएट है और आपके 56 प्रतिशत मार्क्स है या फिर अन्य स्ट्रीम से 60% मार्क्स है, तो आप सीधा सेकंड स्टेप यानी इंटरमीडिएट कोर्स में अप्लाई कर के वहां से CA बनने की राह पर चल सकते हैं।

जब एक बार आप यह सभी सात चरण पूरा कर लेते हैं,  तो इसके बाद आपको सीधा ICAI कंपनी में अपने आप को रजिस्टर करना होगा, उसके बाद ही आप CA (chartered accountant) कहलाएंगे।

यह भी पढ़े:

Write a Comment