भूकंप क्या है? भूकंप के कारण

भूकंप का दूसरा नाम भूचाल (Earthquake) है और ज्यादातर लोग इसे भूकंप के नाम से जानते हैं। तो आज की इस लेख में हम भूकंप के बारे में सीखने वाले हैं और जानेंगे कि भूकंप क्या है, भूकंप कैसे आता है। आज दुनिया में कई सारे जगह ऐसी हैं, जो दिखने में बहुत सुंदर है, लेकिन उन जगाह पर अब लोगों का रहना मुश्किल हो गया है। क्योंकि आजकल बहुत सारे जगह पर भूकंप होते रहते हैं।

सबसे ज्यादा भूकंप होने वाला देश जापान है। उसके बाद चाइना और भारत के भी अन्य हिस्सों में भूकंप की प्रक्रिया होती रहती है। भूकंप से करोड़ों लोग प्रभावित होते रहते हैं और इतिहास में भी बहुत सारे ऐसे भूकंप के किस्से सुनने में आए हैं, जिनसे यह पता चलता है कि भूकंप की वजह से लाखों लोग मर भी चुके हैं। 

और भूकंप के अलग-अलग प्रकार भी जानेंगे और भूकंप के कारण के बारे में भी बात करने वाले हैं, जिससे आप लोगों को भूकंप की सारी उपयोगी जानकारी मिल सके। आज दुनिया में विज्ञान ने ऊंचे मकाम हासिल किया है। आज भी विज्ञान की मदद से हमें इस प्रकृति की बहुत सारी चीजों का स्वाभाव पता चला है। 

लेकिन आज तक इस धरती पर जो भी वैज्ञानिक पैदा हुए हैं। उनको भूकंप के बारे में सारी जानकारी नहीं मिल पाई है। इसके अलावा भूकंप कब आ सकता है, इसकी भविष्यवाणी करना भी बहुत मुश्किल है। तो अब हम नीचे भूचाल या फिर भूकंप क्या है और भूकंप के कारणों के बारे में जानते हैं।

भूकंप क्या है – What is Earthquake in Hindi

भूकंप क्या है

भूकंप का अर्थ भूमि का हिलना या फिर भूमि का कंपन होना और कई लोग इसे भूचाल के नाम से भी जानते हैं। भूकंप भूकंपपनिया तरंग की वजह से होता है, क्योंकि पृथ्वी के स्थलमंडल में (इसे हम लिथोस्फीयर भी कहते हैं) ऊर्जा का अचानक प्रभाव बढ़ जाता है और वह ऊर्जा बड़ी मात्रा में बाहर निकलने की कोशिश है, जिस वजह से भूकंपनिया तरंगे उत्पन्न होती है। 

इस धरती पर बहुत सारे ऐसे हिस्से मौजूद है, जहां पर बहुत बड़े प्रमाण पर भूकंप की तरंगे की वजह से भूकंप आ जाता है और कुछ ऐसे धरती पर हिस्से मौजूद है, जहां पर छोटे-छोटे भूकंप आते रहते हैं, जिस वजह से किसी को भी कोई फर्क नहीं पड़ता है। इसका मतलब यह है कि भूकंप बहुत बड़े हिंसात्मक भी हो सकते हैं और छोटे भूकंप भी आते हैं।

आमतौर पर इस दुनिया में भूकंप को भूकंपमापी यंत्र के द्वारा मापा जाता है, जिसे कई लोग सीस्मोमीटर और सिस्मोग्राफ भी कहते हैं। इससे भूकंप की तीव्रता की प्रमाण नापते हैं। मतलब अगर किसी भी जगह पर भूकंप कम आ जाता है और वह भूकंप 3 या उससे कम रिक्टर परिणाम की तीव्रता का होता है, तो उसे अक्सर छोटे प्रभा वाला भूकंप कहा जाता है। 

लेकिन अगर किसी जगह पर 8 रिक्टर की तीव्रता का भूकंप रिकॉर्ड किया जाता है, तो उसे बड़े प्रमाण का भूकंप का जाता है, जिससे गंभीर परिणाम देखने को मिल सकते हैं। आमतौर पर भारत में कई हिस्सों में छोटे-छोटे भूकंप आते रहते हैं। लेकिन दुनिया में ऐसे देश मौजूद हैं ल, जहां पर बड़े खतरनाक भूकंप देखने को मिलते हैं, जिस वजह से लाखों लोगों की जिंदगी तबाह हो जाती है।

भूकंप की शक्ति इतनी होती है कि भूकंप किसी भी जगह पर धरती को फाड़ सकता है और भूकंप की वजह से समुद्र में सुनामी भी आ सकती है। ज्यादातर बार यह देखा गया है कि भूकंप ज्वालामुखी गतिविधियों को भी पैदा करता है।

भूकंप के प्रभाव

इस सेक्शन के अंदर हम आपको भूकंप के चार प्रभाव के बारे में बताने वाले हैं। वैसे तो भूकंप के बहुत सारे प्रभाव उपस्थित है लेकिन चार सबसे बड़े प्रभाव के बारे में बताने वाले हैं जिससे आपको भूकंप को जानने में और ज्यादा आसानी होगी।

1. पृथ्वी के सतह का हिलना

भूमि की सतह का हिलना भूकंप के मुख्य प्रभाव में आता है और इसे हम भूमि त्वरण यंत्र से नापते हैं। कई बार अपने वायरल वीडियो में भी देखा होगा कि जहां पर भूकंप आता है, वहां पर तीव्र गति से धरती के अंदर हलचल होती रहती है, जिस वजह से बार-बार पृथ्वी की सतह पर दबाव पड़ता है और वह हिलने लगता है।

2. भूमि का फटना

कई बार आप लोगों ने भूकंप की वजह से धरती के फटने का वीडियो और फोटोस देखे होंगे, या हॉलीवुड के ऐसे बहुत सारे मूवीस मौजूद है, जहां पर भूमि के फटने का सीन मौजूद है। आपको बता दें कि भूमि का फटना भी भूकंप का मुख्य प्रभाव है। 

क्योंकि जब किसी एक जगह पर भूकंप आता है, तब उस जगह के मुख्य बिंदु से, जिसे हम केंद्र कहते हैं। वहां से तीव्र गति से तरंगे बाहर आती है, जिस वजह से धरती की सतह पर काफी दबाव पड़ता है और कई बार धरती के कई किलोमीटर तक धरती फट जाती है और जमीन खिसकने लगती है।

3. सुनामी

2004 में आए हिंद महासागर के भूकंप के बारे में आपने सुना होगा। यह बहुत ही प्रचलित किस्सा था। आपको बता दें कि जब समुद्र के भीतर भूकंप के तरंगों की वजह से दबाव पड़ता है। तब बड़े प्रमाण में समुद्र में हलचल होती है, जिससे सुनामी का खतरा बढ़ जाता है।

4. बाढ़

ऊपर दिए गए जानकारी के मुताबिक आपको पता चल गया होगा कि भूकंप कितना खतरनाक हो सकता है। आपको बता दें कि भूकंप की वजह से बड़े-बड़े बांध टूट कर बाढ़ जैसे हालात भी बन सकते हैं। इस वजह से बाढ़ का मुख्य कारण भूकंप को हम कह सकते हैं।

भूकंप के कारण

भूकंप के कारण

भूकंप के बारे में पहले से ही बहुत सारी रिसर्च हो चुकी है, जिसके बाद वैज्ञानिकों ने भूकंप के बारे में बहुत महत्वपूर्ण जानकारी हासिल की है। इसके अलावा इन वैज्ञानिकों की रिसर्च के बाद भूकंप की आने की वजह भूकंप से बचाव का तरीका इन सब की जानकारी हमें मिल चुकी है, तो आइए जानते हैं भूकंप कैसे आता है।

  • भूकंप की सबसे बड़ी वजह प्लेट्स का एक दूसरे के क्षेत्र में आकर टकरा जाना है। अब आप सोच रहे होंगे कि प्लेट्स क्या होता है। आपको बता दें कि भारत देश में स्थित हिमालय के हिस्से को इंडियन प्लेट कहा जाता है और वही अफगानिस्तान के इससे को यूरोसिया प्लेट कहते हैं। इसी तरह और भी बहुत सारी धरती पर प्लेट मौजूद है। जैसे कि और एक प्लेट मौजूद है और उसका नाम अरब और अफ्रीकी प्लेट है।
  • भूकंप के आने से पहले यह सभी प्लेट्स एक दूसरे के क्षेत्र में घुसने की कोशिश करते हैं और जिस वजह से इन लेट्स के बीच धरती के अंदर बहुत बड़ा टकराव होता है, जिससे अपार ऊर्जा का उत्पन्न होता है और इस कारण से यह ऊर्जा बहुत बड़ी प्रमाण में धरती के बाहर आने की कोशिश करता है। इससे बार-बार धरती के अंदर संघर्ष होता रहता है, जिस वजह से धरती हिलने लगती है और कई बार धरती फट भी जाती है।
  • आपको बता दें कि कई बार यह ऊर्जा हफ्तों तक और कई बार महीनों तक बाहर निकलने की कोशिश करती है, जिस वजह से यह भूकंप की प्रक्रिया महीनों तक भी चल सकती है। वैज्ञानिकों का कहना है कि 100% तो भूकंप की भविष्यवाणी नहीं कर सकते हैं। लेकिन कई ऐसे पॉइंट्स मौजूद है, जीनकी के मदद से वैज्ञानिकों को भूकंप का अंदाजा हो जाता है।
  • इस दुनिया में भूकंप के बारे में बहुत सारे रिसर्च हुए हैं और कुछ रिसर्च के मुताबिक बढ़ती आबादी के कारण भी भूकंप होता है और कुछ लोगों का यह कहना है कि आजकल के जनरेशन के लोगों के जीवनशैली के वजह से भूकंप का खतरा बहुत बढ़ गया है। इसका मतलब यह है कि आजकल के जीवनशैली में हम बहुत सारे ऐसे काम करते हैं, जिससे इस प्रकृति को काफी नुकसान पहुंचता है।
  • जैसे कि प्लास्टिक का इस्तेमाल करना और जानवरों का कत्ल करना। आपको यह दोनों बात जानकर हैरानी होगी। लेकिन कुछ लोगों ने दावा किया है कि गाय जैसे जानवरों का कत्ल करने पर धरती का वातावरण पूरी तरह से बदल जाता है, जिससे भूकंप की संभावना बढ़ जाती है। इसके बारे में अधिक जानने के लिए आप इंटरनेट पर और खोज कर सकते हैं। 

विश्व में बड़े भूकंप की घटनाएं

  1. 1991 में भूकंप की वजह से उत्तर प्रदेश में हजारों मकान तबाह हो गए थे।
  2. 1993 में लातूर, महाराष्ट्र में भूकंप की वजह से अपार संपत्ति की हानि हुई थी और लगभग 30000 से अधिक लोग मृत पाए गए थे।
  3. 1997 में जबलपुर, मध्य प्रदेश में भूकंप हुआ था, जिसके बाद 50 लोगों को जान गंवानी पड़ी थी।
  4. 1999 को भी उत्तरांचल में भूकंप हुआ था, जहां पर जन और धन दोनों की हानि हुई थी।
  5. 2001 में गुजरात के भुज में बड़ा भूकंप आया था, जहां पर लगभग 100000 लोगों को मृत पाया गया और अपार संपत्ति का नुकसान झेलना पड़ा।
  6. 23 जनवरी 1556 को चाइना के शानसी में भूकंप आया था, जहां पर कुल 830000 लोग मारे गए थे।
  7. 11 अक्टूबर 1737 को भारत के कोलकाता शहर में बड़ा भूकंप आया था, जहां पर लगभग 300000 से ज्यादा लोग मारे गए थे।
  8. 26 दिसंबर 2004 को सुमात्रा में भी भूकंप आया था, जहां पर 280000 लोग मारे गए थे।
  9. 27 जुलाई 1976 को चाइना के टंगशन में भूकंप की वजह से 255000 लोग मारे गए थे।
  10. 9 अगस्त 1138 को भूकंप की वजह से सीरिया में 230000 लोग मारे गए थे।

टेक्निकली तो मैंने भूकंप के बारे में इस लेख में थोड़ी जानकारी दी है, लेकिन आसान भाषा में भूकंप क्या है और इसके कारण क्या होते हैं, इसके बारे में समझाने की कोशिश की है। आशा करता हूं कि आपको हमारा यह देख जरूर पसंद आया होगा।

इन्हें भी पढ़े:

Write a Comment