बैंक मैनेजर कैसे बने? बैंक मैनेजर बनने के लिए क्या करें?

0

भारत में बहुत सारे लोगों का सपना होता है कि वह बड़े होकर डॉक्टर और इंजीनियर बने। इसके अलावा बहुत सारे लोग बैंक मैनेजर भी बनना चाहते हैं। आपको बता दें कि सरकारी बैंक मैनेजर अथवा प्राइवेट बैंकों का मैनेजर बनना बहुत ही अच्छा होता है। क्योंकि यहां पर आराम से बैठकर आप बैंक में काम कर सकते हैं।

इस वजह से यहां पर हम आपको सरकारी या प्राइवेट बैंक मैनेजर कैसे बने? और बैंक मैनेजर बनने के लिए क्या करें? इसके बारे में पूरी उपयोगी जानकारी देने वाले हैं। हर किसी का सपना होता है कि वह बड़े बनकर बैंक में काम करें। और बैंक मैनेजर बने। और बैंक मैनेजर बनने के बाद आपको बहुत इज्जत भी मिलती है। इसके अलावा बैंक मैनेजर की कमाई भी बहुत होती है।

इस वजह से यह बहुत ही अच्छा फील्ड है। इस वजह से अगर आपको बैंक मैनेजर बनना है तो इसके लिए आपको बहुत मेहनत भी करनी पड़ेगी। इस वजह से बैंक में मैनेजर बनने के लिए सही मार्गदर्शन की आवश्यकता बहुत होती है। इस वजह से हमने आपको इस ब्लॉग पोस्ट में सही मार्गदर्शन देने वाले हैं। जिससे आप आसानी से बैंक मैनेजर बन सकते हैं। इसके अलावा बैंक मैनेजर बनने के लिए क्या योग्यता है इसके बारे में भी बताएंगे।

बैंक मैनेजर कैसे बने? बैंक मैनेजर बनने के लिए क्या करें? (पूरी जानकारी)

बैंक मैनेजर बनने के लिए सबसे आवश्यक चीज यह है कि आपको इसकी पूरी जानकारी इकट्ठी करनी होगी। जैसे कि बैंक मैनेजर बनने के लिए क्या सामर्थ्य चाहिए?, क्या योग्यता होनी चाहिए? और कितनी उम्र होनी चाहिए? इसके अलावा सभी मुख्य जानकारी प्राप्त करनी होगी।

बैंक मैनेजर कैसे बने

वीडियो के द्वारा बैंक मैनेजर कैसे बने और बैंक मैनेजर बनने के लिए क्या करें इसके बारे में जानकारी चाहिए तो नीचे दिए गए इस यूट्यूब वीडियो को देखें:

बैंक मैनेजर बनने के लिए जरूरी योग्यता

  • बैंक मैनेजर बनने के लिए उम्मीदवार को बैंकिंग की सभी जानकारी और अनुभव होना आवश्यक है।
  • उम्मीदवार के लिए मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन अथवा पोस्ट ग्रेजुएशन में उत्तीर्ण होना बहुत जरूरी है।
  • सबसे जरूरी बात यह है कि ग्रेजुएशन में आपको 60% से उत्तीर्ण होना होगा। इसके अलावा कई बैंकों में इससे कम मार्क्स में भी आवेदन करने के लिए सुविधा देते हैं।
  • साइंस अथवा किसी भी अन्य विद्यार्थी के तुलना में कॉमर्स वाले विद्यार्थी को अधिक मान्यता दी जाती है। क्योंकि कॉमर्स के विद्यार्थी को पहले से ही बैंकिंग के सारी जानकारी प्राप्त होती है।
  • बैंक मैनेजर बनने के लिए उम्मीदवार को अंग्रेजी भाषा आनी चाहिए। क्योंकि कि इस भाषा का सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है।
  • उम्मीदवार के ऊपर किसी भी तरह का पुलिस केस नहीं होना चाहिए। और वह कैदी भी नहीं होना चाहिए।

बैंक मैनेजर बनने के लिए आवेदन कैसे करें?

बैंक मैनेजर के नौकरी के लिए आवेदन देने के लिए आपको सबसे पहले सभी बैंक के आने वाले भर्तियों पर नजर रखना होगा। इसके लिए आपको लगातार ऑनलाइन बैंक मैनेजर के भर्तियों के बारे में सर्च करना होगा। इसके अलावा आप अखबार में भी बैंक मैनेजर की भर्तियों के बारे में पता कर सकते हैं।

Important Posts

आपको बता दो कि प्राइवेट बैंक में बैंक मैनेजर की नौकरी मिलना आसान है क्योंकि यहां पर सीधे डाक्यूमेंट्स जमा करवा दिए जाते हैं। और और जब आपको उनके द्वारा इंटरव्यू में बुलाया जाता है। तब आप सारे डाक्यूमेंट्स वहां पर देखकर इंटरव्यू दे सकते हैं। अगर आप सिलेक्ट होते हैं तो आपको तुरंत नौकरी मिल जाती है।

बैंक मैनेजर की चयन प्रक्रिया कैसे होती है?

सरकारी या प्राइवेट बैंक में बैंक मैनेजर बनने के लिए चार प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। इसके लिए पहले आपको प्रारंभिक परीक्षा देना होगा, मुख्य परीक्षा देना होगा, इंटरव्यू देना होगा और उसके बाद समूह में विचार विमर्श करना पड़ता है। नीचे मैंने इन सभी चारों प्रक्रिया के बारे में संक्षिप्त में बताया है।

  • प्रारंभिक परीक्षा

बैंक मैनेजर बनने के लिए सबसे पहले आपको प्रारंभिक परीक्षा देना पड़ता है। और यह इसका सबसे पहला चरण होता है। आपका प्रारंभिक परीक्षा इसलिए लिया जाता है। क्योंकि इससे आपकी काबिलियत की परख होती है। इस परीक्षा के लिए जो भी बैंक मैनेजर बनना चाहते हैं उनको कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी। क्योंकि अगर इसमें आप उत्तीर्ण नहीं होंगे तो आपको मुख्य परीक्षा में बैठने नहीं दिया जाएगा।

  • मुख्य परीक्षा

बैंक मैनेजर बनने के सफर में या दूसरा कदम होता है। और मैं आपको बता दूं कि यह प्रारंभिक परीक्षा से और कठिन होता है। इसके लिए आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी। इसके अलावा जैसे कि मैंने आपको बताया जो उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण कर लेता है, उसी को इस परीक्षा में बैठने का मौका मिलता है।

  • इंटरव्यू

प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद बैंक अधिकारी आपको इस चरण के लिए मतलब इंटरव्यू के लिए बुलाते हैं। आपको अपने सारे जरूरी डाक्यूमेंट्स वहां पर ले जाना होगा। और उनके बताए गए सारे कठिन सवालों का जवाब देना होगा। जिससे वह आपके काबिलियत को परखेंगे। इसके बाद वह आपको इस चरण में पास करते हैं।

  • समूह विचार-विमर्श

समूह विचार-विमर्श को अंग्रेजी में ग्रुप डिस्कशन भी कहा जाता है। बैंक मैनेजर बनने के लिए यह आखरी चरण होता है। और इससे अगर आप कामयाबी से पार कर जाए तो आप बैंक मैनेजर बन जाएंगे। इसमें कुछ बैंक के अधिकारी आपको एक विषय देते हैं। और आप को सबसे सामने उस विषय के बारे में अपना विचार विमर्श व्यक्त करना होगा। और आपके काबिलियत पर आपको वह लोग इस चरण में भी उत्तीर्ण कर सकते हैं।

बैंक मैनेजर कैसे बने और बैंक मैनेजर बनने के लिए क्या-क्या करना चाहिए ? इसका हमने आपको अनमोल और उपयोगी जानकारी दी है। अगर पूरी मेहनत करके इन दिए गए मार्गदर्शन के आधार पर आप जल्द ही बैंक मैनेजर बन सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.