सुकन्या समृद्धि योजना 2020: योग्यता, ब्याज दर, खाता कैसे खोलें?

सुकन्या समृद्धि योजना 2020: दोस्तों आज हम आपको सुकन्या योजना के बारे में सभी जानकारी देने वाले हैं। आपको तो पता ही होगा कि भारत में पिछले कुछ सालों से लोग लड़की के बजाय लड़के को बहुत तवज्जो देते थे। इस वजह से लड़की को अच्छी शिक्षा नहीं मिल पाती थी। और अब भारत सरकार ने लड़कियों के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य जरूरतों के लिए एक योजना बनाई है। उस योजना के तहत अब लड़कियों को भी भारत में अच्छी सुविधा मिलेगी। 

जैसे कि आप सभी लोगों को पता होगा कि केंद्र सरकार ने भारत में महिलाओं के लिए सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत की है। सुकन्या समृद्धि योजना का उद्देश्य लड़कियों की पढ़ाई और शादी में आने वाले खर्च को भरने में माता-पिता को आसानी हो इसके लिए बनाया गया है। इस वजह से अपनी बेटी के लिए सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट डाक विभाग में अकाउंट खुलवाया जा सकता है। 

आपको बता दें कि डाक विभाग के पोस्ट ऑफिस में सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट खुलवाने के लिए अलग सुविधा सेंटर मुहैया करवाया जाएगा। आपको सिर्फ जरूरी डाक्यूमेंट्स जमा करने होंगे। उसके बाद आपको अकाउंट मिल जाएगा। आपको शेयर बाजार के बारे में तो पता होगा कि उसमें कितना जोखिम है। जो लोग शेयर बाजार में पैसा निवेश करने से डरते हैं, उन लोगों के लिए यह योजना बहुत ही फायदेमंद साबित होगी। क्योंकि इसमें कोई भी जोखिम की बात ही नहीं है।

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है?

सुकन्या समृद्धि योजना

आप लोगों को नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत सरकार का बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ Campaign के बारे में पता होगा। यह सुकन्या समृद्धि योजना भी नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में लॉन्च किया गया है। आसान भाषा में इसे सबसे बेहतर ब्याज दर वाली योजना भी कह सकते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना में 2016 – 17 साल में 9.1 फ़ीसदी की दर से ब्याज दिया जा रहा था। और इससे पहले इस योजना में 9.2 फ़ीसदी तक ब्याज भी मिला है. और वह भी इनकम टैक्स छूट के साथ। 

इसका मतलब यह है कि बाद में आपको इनके टैक्स के रूप में पैसा नहीं बनना पड़ेगा। उसमें आपको बहुत बड़ी छूट मिलती है। भारत सरकार ने यह योजना बड़े ध्यान में रखकर बनाई है। क्योंकि भारत में जो परिवार अपने बेटियों के लिए शिक्षा और शादी के चिंता में रहते हैं, उनको इस योजना से राहत मिल सके। आप अपनी बेटी के नाम से सुकन्या समृद्धि योजना में 1 साल में 1,000 से लेकर ₹1,50,000 जमा करा सकते हैं। 

अकाउंट खुलवाने के बाद 14 साल तक ही आप पैसे जमा करवा सकते हैं। और बेटी के 21 साल होने के बाद यह मैच्योर हो जाएगा। इसके अलावा अगर जरूरत पड़ी तो बेटी के 18 साल होने के बाद आप आधा पैसे अकाउंट से निकाल सकते हैं। 21 साल के बाद यह सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट आपका बंद हो जाएगा। और सारे पैसे मां-बाप को मिल जाएंगे। अगर आपकी बेटी 18 साल से 21 साल की आयु के बीच शादी करती है तो अकाउंट उसे वक्त बंद हो जाता है।

सबसे बड़ी बात यह है कि अगर आप अकाउंट में पैसे डालने में देरी करते हैं तो आपको ₹50 की पेनल्टी भी लग सकती है। आयकर कानून की धारा 80-जी के तहत सुकन्या समृद्धि योजना के खातों पर टैक्स छूट दी गई है। इसके अलावा मां बाप अपने बेटियों के लिए दो अकाउंट भी खोल सकते हैं। अगर उनको जुड़वा होते हैं तो उसका प्रूफ देकर तीसरा अकाउंट में खोल सकते हैं।

अब मैं आपको बहुत जरूरी जानकारी देने वाला हु और वह यह है कि सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अगर कोई व्यक्ति 2019 में ₹1000 महीने से अकाउंट खुलता है तो उसे अगले 14 साल तक मतलब 2032 तक हर साल ₹12000 डालने होंगे। इसके हिसाब से जब बेटी 21 साल की होगी तो वह पैसे 6,07,128 रुपए हो जाएंगे। क्योंकि इस योजना के तहत आपको 8.6 फ़ीसदी ब्याज मिलता है।

तो इस वजह से बहुत सारे लोग इस योजना को गरीब लोगों के लिए बहुत ही शानदार योजना मानने लगे हैं। आपको बता दें कि 14 साल में मां-बाप को अकाउंट में ऊपर के हिसाब से कुल 1.68 लाख रुपये जमा करने पढ़ते हैं। और बाकी 4,39,128 रुपए मां-बाप को ब्याज के रूप में मिल जाते हैं। तो इस वजह से ही बहुत सारे लोगों को योजना बहुत पसंद आई है।

सुकन्या समृद्धि योजना खाता कैसे खोलें?

सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोलने के लिए मां-बाप को लड़की के जरूर लेने के बाद 10 साल के अंदर ही यह खाता ₹250 जमा करके खोलना होगा। और ज्यादा से ज्यादा मां-बाप इस अकाउंट में 1.5 लाख रुपए जमा कर सकते हैं। इससे ज्यादा रुपए इस अकाउंट में जमा नहीं किया जा सकता।

आप किसी भी पोस्ट ऑफिस या फिर कमर्शियल ब्रांच की अधिकृत शाखा में जाकर अपनी बेटी के लिए सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोल सकते हैं। इसके बाद जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया अपनी बेटी के 18 साल होने के बाद या फिर 21 साल होने के बाद आप उसकी शादी तक इस अकाउंट को चलाएं रख सकते हैं। 

सुकन्या समृद्धि योजना की फायदे की बात करें तो मां बाप अपनी बेटी के उच्च शिक्षा के लिए 50 फ़ीसदी तक रकम निकाल सकते हैं। लेकिन बेटी की उम्र 18 साल होनी चाहिए। जैसा कि हमने आपको बताया 10 साल के अंदर आपको अपनी बेटी के लिए सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोलना होगा। एक बेटी के लिए एक ही खाता खुलवाया जा सकता है। एक बेटी के लिए दो खाते नहीं खुलवाए जा सकते।

सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोलने के लिए जरूरी कागजात की बात करें तो मां-बाप को अपनी बेटी का बर्थ सर्टिफिकेट और अभिभावक के पहचान और पते का प्रमाण पत्र में जमा करवाना होगा। इसके बाद अकाउंट खुलवाया जा सकता है। सुकन्या समृद्धि योजना खाता में वैसे आप कैश, चेक और डिमांड ड्राफ्ट से पैसे जमा कराए जा सकते हैं।

यह सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में महत्वपूर्ण और उपयोगी जानकारी हमने गूगल से इकट्ठा की है। अगर आपको हमारा छोटा सा लेख पसंद आया है तो नीचे कमेंट बॉक्स में अपना विचार व्यक्त कर सकते हैं। और इसे अपने प्रिय लोगों के साथ जरूर शेयर करें। जिससे उनको भी इस योजना के बारे में पता लग सके।

इसे भी पढ़े:

Write a Comment