बादाम का पेड़: Almond Tree उगाने की संपूर्ण जानकारी

नमस्कार, इस लेख के जरिए हम आपको बादाम का पेड़ के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं, जैसे कि बादाम के पेड़ की फूल, फल, पत्ते, इसके फायदे और इसे किस तरह से उगाया जाता है, इसके बारे में भी बताने वाले हैं।

भारत में तो पुरातन काल से भगवान को नैवेद्य के रूप में बादाम चढ़ाया जाता है। बादाम एक तरह का मेवा होता है, जो सेहत के लिए बहुत ही लाभदायक तथा चेहरे के लिए भी अति उत्तम होता है, जिस वजह से डॉक्टर्स भी बादाम खाने की सलाह देते हैं।

बादाम का पेड़

बादाम के पेड़ को अंग्रेजी में Almond Tree कहा जाता है। भारत के अलावा जापान जैसे देशों में भी अत्यधिक मात्रा में बादाम के पेड़ों की खेती होती है। आप सभी लोगों को पता होगा कि बादाम और काजू को भारत में मेवा कहा जाता है। क्योंकि यह ड्राई फ्रूट्स की कैटेगरी में आता है।

बादाम का पेड़

बादाम के पेड़ की बात करें, तो यह पेड़ मध्यम आकार का रूप लेता है और बादाम के पेड़ पर गुलाबी और सफेद रंग के फूल भी खिलते हैं। इसकी टहनियां पहले तो हरे रंग की होती है, लेकिन बाद में बैंगनी रंग की दिखने लगती है। और ज्यादा से ज्यादा यह पेड़ 4 से 10 मीटर तक लंबा होता है।

इसी तरह बादाम के पेड़ के फल की बात करें, इसके पेड़ 5 से 6 सेंटीमीटर तक लंबा होते है और इसके ऊपर एक कठोर खोल भी होता है जिसे तोड़कर बादाम निकाला जाता है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि बादाम असल में 2 तरीके के होते हैं, एक जो हल्का सा मीठा जो कि खाने के लिए उपयोग किया जाता है और और एक थोड़ा सा कड़वा जिसे सिर्फ और सिर्फ बादाम के तेल निकालने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

बादाम के फायदे (Benefits of Almond)

  • पाचन क्रिया को मजबूत बनाने के लिए बादाम जरूरी।
  • कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए भी बादाम का सेवन अति उत्तम।
  • स्नैक्स की जगह हर दिन भीगे हुए बादाम खाने से वजन बढ़ने से रोका जा सकता है।
  • हर दिन बादाम का सेवन करने से दिमाग की शक्तियां तेज हो जाती है।
  • बादामी ढेर सारे न्यूट्रिशन और मिनरल्स होते हैं, जैसे कि प्रोटीन, विटामिन, कैल्शियम, फास्फोरस इत्यादि।
  • बादाम के अंदर एक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो कि हार्ड के लिए अच्चे होते हैं।

बादाम का पेड़ कैसे उगाए?

बादाम का पेड़ उगाने के लिए या फिर बादाम की खेती करने के लिए सबसे पहले गर्म और शुष्क जलवायु की आवश्यकता होती है। क्योंकि ठंडे वातावरण में बादाम का पेड़ सही तरीके से नहीं उगता है। इस के अलावा बादाम का पेड़ लगाने के लिए मिट्टी का ph 5.5 से लेकर 8.5 के बीच होना चाहिए।

आमतौर पर भारत में दो तरीके से बादाम के पेड़ उगाए जाते हैं, एक बीच के जरिए और दूसरा पौधे के जरिए। लेकिन आपको यह बात जानी बहुत जरूरी है कि पौधे की तुलना में बीज द्वारा उगाए जाने वाले बादाम के पेड़ ज्यादा समय से उगते हैं। इस वजह से बहुत सारे लोग नर्सरी में जाकर पौधे से बादाम का पेड़ उगाते हैं।

सबसे पहले आपको अपने बगीचे में या फिर खेत में सबसे अच्छे जगह का प्रबंध करना होगा। इसका मतलब यह है कि जहां पर ज्यादा धूप और हवा आती हो। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं कि ज्यादा गर्म हवा और धूप बादाम के पेड़ पर पड़ने से बादाम के पेड़ को ज्यादा फायदा पहुंचता है।

पूर्ण विकसित बादाम का पेड़ करीब 40 पाउंड बादाम आपको एक सीजन में दे सकता है। बादाम के पेड़ उगाने के बाद उसे 5 साल लगते हैं बादाम पहली बार देने के लिए। बादाम के पौधे को उचित मात्रा में खाद देना जरूरी है, इस वजह से हर हफ्ते में नाइट्रोजन और यूरिया देना जरूरी है।

FAQs:

1. बादाम की खेती कहां होती है?

भारत में ठंडे प्रदेशों में जैसे कि जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में बादाम की खेती होती है। इसके अलावा आंध्र प्रदेश में भी इसकी खेती करते हैं।

2. बादाम के पेड़ के पत्ते कैसे होते हैं?

बादाम के पेड़ के पत्ते थोड़े से बड़े यानी कि लगभग 8 से 13 सेंटीमीटर तक लंबे होते हैं। सूखने के बाद यह पीले नजर आते हैं।

3. बादाम कैसे उगाए जाते हैं?

दो तरीके से बादाम की खेती होती है। एक बादाम के बीज के जरिए और दूसरे बादाम के पौधे से इसकी खेती होती है।

4. 1 दिन में कितने बादाम खाने चाहिए?

रात में बादाम को पानी में भिगोकर सुबह खाना अच्छा होता है और लगभग 1 दिन में 10 बादाम खाए जा सकते हैं।

5. बादाम की क्या रेट है?

2021 की बात करें तो अच्छी गुणवत्ता वाले बादाम ₹500 से ₹700 किलो बिकते हैं।

इन्हें भी पढ़े:

2 Comments

  1. radhe meena
    May 4, 2021

Write a Comment