थायराइड का रामबाण इलाज के लिए 6 घरेलू उपचार

जैसा कि आपको पता ही होगा कि आज मैं थायराइड का रामबाण इलाज के बारे में जानकारी प्रदान करने वाला हूं। इसी तरह इस लेख के अंदर थायराइड के प्रकार, इसके लक्षण और घरेलू उपचार की जानकारी प्रदान करने वाले है।

भारत में तो बहुत सारे लोग थायराइड जैसे भयानक बीमारी से परेशान है। शरीर में थायराइड की समस्या हार्मोन असंतुलन की वजह से होती है। क्योंकि बहुत सारे लोग अपने शरीर के वजन बढ़ाने या घटाने के लिए बहुत कोशिश करते हैं। इसी समय थायराइड हार्मोन की स्थिति बिगड़ जाती है, जिस वजह से थायराइड की समस्या उत्पन्न होती है।

थायराइड का रामबाण इलाज

यदि आपने Autoimmune के बारे में नहीं सुना है तो, इसमें आपके प्रतिरक्षा प्रणाली में कुछ एंटीबॉडीज उत्पन्न होते हैं, जो कि थायराइड हार्मोन बनाने के लिए उत्तेजित करता है। जिस वजह से शरीर में थायराइड की बीमारी लग जाती है। लेकिन लोग इस से छुटकारा पाने के लिए बहुत सारे उपाय अपनाते हैं। लेकिन ज्यादातर लोग इसमें असफल रहते हैं।

हम आपको यह बता देना चाहते हैं कि थाइरोइड के दो प्रकार के होते हैं, पहला थायराइड ग्रंथि की अतिसक्रियता (Hyperthyroidism) और दूसरा अल्पसक्रियता (Hypothyroidism)। पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को होने वाला थायराइड रोग का नाम Hyperthyroidism है।

Hyperthyroidism की मरीज कि शरीर में मेटाबॉलिज्म बढ़ जाता है, घबराहट होने लगती है, चिड़चिड़ापन, हाथ का काँपना, अधिक पसीना आना यह आम बात है। लेकिन इसके अलावा बालों का पतला होकर झड़ना, अनिद्रा, मांसपेशियों में कमजोरी और दर्द होना, बहुत भूख लगना, वजन घटना, दिल की धड़कन बढ़ना, महिलाओं में मासिक धर्म के अनियमितता देखी जाती है और हड्डियों को भी बहुत नुकसान होता है।

थायराइड के Hypothyroidism मरीज के शरीर में बार-बार भूल जाना, बालों का अधिक झड़ना, जोड़ों में दर्द और मांसपेशियों में अकड़न आना, अवसाद, धड़कन की धीमी गति, चेहरे और आंखों में सूजन, खून का कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ना, मासिक धर्म में अनियमितता का होना, कंफ्यूज रहना, नाखूनों का पतला होना और महिलाओं में इसके कारण से बांझपन भी आ सकता है।

थायराइड का रामबाण इलाज (Thyroid Home Remedies)

1. अलसी के बीज का सेवन करें

Hypothyroidism जैसी थायराइड की बीमारी से लड़ने के लिए क्षमता देने वाला सबसे ताकतवर बीच अलसी के बीज होते हैं। इसमें भरपूर मात्रा में फैटी एसिड, मैग्नीशियम और विटामिन बी 12 पाया जाता है।

2. अदरक है लाभकारी

अदरक के अंदर एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण, पोटेशियम और मैग्नीशियम की मात्रा भरपूर मात्रा में होती है। जिस वजह से बहुत सारे लोग थायराइड की समस्या से छुटकारा पाने के लिए हर दिन अदरक का सेवन करते हैं।

3. मुलेठी का सेवन करें

थायराइड हो चुके मरीज को हमेशा थकान रहती है। उसकी ऊर्जा बहुत जल्द खत्म हो जाती है। इस वजह से मुलेठी का सेवन बहुत जरूरी है। क्योंकि यह न सिर्फ थायराइड से लड़ने में मदद करता है, बल्कि शरीर को ऊर्जा भी प्रदान करता है।

4. धनिये का पानी पिए

आपको शाम को तांबे के बर्तन में पानी भरकर उसमें दो चम्मच धनिया को भिगो कर सुबह उसे मसल मसल कर, छानकर धीरे-धीरे पीजिये, इससे जरूर आपको फायदा होगा।

5. नारियल का तेल

आयुर्वेद के मुताबिक एक से दो चम्मच नारियल का तेल गुनगुने दूध के साथ सुबह और शाम को लेने से थायराइड जैसी भयानक बीमारी से लड़ने में मदद मिलती है।

6. दूध और दही का सेवन जरूरी

मनुष्य के शरीर को थायराइड होने के बाद उसका शरीर कमजोर होने लगता है, इस वजह से दूध और दही का सेवन करने से शरीर को कैल्शियम, मिनरल्स और विटामिंस की कमी को दूर करता है।

ऊपर दिए गए सभी 6 घरेलू उपाय थायराइड का रामबाण इलाज के लिए बेहद जरूरी है। यदि आप थायराइड जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं, तो घर में मौजूद चीजों से घरेलू उपचार करके थायराइड से मुक्त हो सकते हैं। लेकिन ऊपर दिए गए किसी भी उपाय को लागू करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

इन्हें भी पढ़े:

FAQs:

1. थायराइड को जड़ से खत्म करने के लिए क्या करें?

अपने जीवन चरित्र को पूरी तरह से बदल कर हेल्थी खाने का सेवन करने से थायराइड को जड़ से खत्म किया जा सकता है। इसके लिए दूध, दही, अदरक, मुलेठी और नारियल का तेल जैसे को खाने में शामिल करें।

2. थायराइड क्या खाने से बढ़ता है?

पत्ता गोभी, ब्रोकली, फूलगोभी, पालक, शकरकंद, कसावा, स्ट्रॉबेरी इन चीजों को खाने से आपको परेश करना होगा। क्योंकि इन में ऐसे तत्व होते हैं, जिनसे थायराइड की उत्पत्ति ज्यादा होती है।

3. थायराइड का आयुर्वेदिक इलाज क्या है?

शिग्रु पत्र, कांचनार, पुनर्नवा के काढ़ों को थायराइड के आयुर्वेद के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है। इसके अलावा जलकुंभी, अश्वगंधा या विभीतकी इनका रस भी पीना बहुत लाभदायक है।

4. क्या थायराइड जानलेवा है?

हा, यदि आप सही समय पर सही थायराइड का उपचार नहीं करते हैं तो, इससे मौत भी हो सकती हैं। आपको बता दें कि भारत में लगभग 30% से ज्यादा लोगों को थायराइड की कई प्रकार की बीमारियां है।

5. थायराइड की जांच कितने रुपए में होती है?

आमतौर पर भारत में निजी अस्पतालों में लगभग ₹400 और सरकारी अस्पतालों में ₹200 थायराइड का टेस्ट करने के लिए चार्ज किए जाते हैं।

Write a Comment

close