अश्वगंधा के 7 जबरदस्त फायदे, नुकसान और उपयोग

भारत में प्राचीन काल से अश्वगंधा (Withania somnifera) का इस्तेमाल कई जगह पर किया जा चुका है। आपको बता दें कि अश्वगंधा एक जड़ी बूटी है, जिससे बहुत सारी बड़ी-बड़ी बीमारियां दूर हो सकती है। अगर आप मोटापे से परेशान हैं या फिर कमजोर है तो अश्वगंधा की मदद से आप इन सभी परेशानियों से मुक्त हो सकते हैं। इसके अलावा वीर्य विकार से भी राहत मिलती है। ऐसे बहुत सारे बड़े-बड़े बीमारियों का रामबाण इलाज है अश्वगंधा। इस वजह से आज के इस लेख के जरिए हम आपको अश्वगंधा के फायदे, नुकसान और कुछ अश्वगंधा के उपयोग के बारे में जानकारी प्रदान करने वाले हैं।

अश्वगंधा के फायदे – Benefits of Ashwagandha 

अश्वगंधा के फायदे
  1. अनिद्रा से राहत

आजकल के इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में कोरोला नींद ना आने की वजह से बहुत परेशान है और इसकी बड़ी वजह खराब खानपान और जीवनशैली है। लेकिन प्राचीन काल से अनिद्रा से राहत पाने के लिए हमारे पूर्वज अश्वगंधा का इस्तेमाल करते थे। आपको बता दें कि अश्वगंधा में ट्राएथिलीन लाइकोल नामक एक यौगिक होता है, जिससे हमें गहरी नींद मिलती है।

  1. तनाव को दूर करें

बहुत सारे लोग बढ़ते कामकाज की वजह से परेशान रहते हैं, तो वहीं स्कूल और कॉलेज में जाने वाले बच्चे भी पढ़ाई की वजह से हमेशा तनाव में रहते हैं। लेकिन क्या आपको पता है अश्वगंधा में एंटी स्ट्रेस गुण पाए जाते हैं। जिस वजह से अश्वगंधा का नियमित रूप से सेवन करने से हमें तनाव से कुछ समय में मुक्ति मिल सकती है।

  1. कैंसर को खत्म करें

कैंसर एक भयानक बीमारी है। जिस वजह से दुनिया में काफी लोग मर चुके हैं। अश्वगंधा का इस्तेमाल करने से हमारे शरीर में रिएक्टिव ऑक्सीजन स्पीशीज का निर्माण करता है, जो कि कैंसर सेल्स को खत्म करने में काफी मददगार होता है। जिस वजह से हमारे शरीर में कैंसर के नए सेल्स नहीं बनता है और हमें इस भयानक बीमारी से बचा सकता है।

  1. इम्मयून सिस्टम को मजबूत बनाएं

अक्सर काफी लोग हर बार बीमार होते रहते हैं। कुछ लोगों को बार बार सर्दी जुकाम होता रहता है और इसका कारण कमजोर इम्यून सिस्टम होता है। जिस वजह से हमारे शरीर में कोई भी बीमारी आसानी से आ सकती है। लेकिन इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए हमें अश्वगंधा का इस्तेमाल करना चाहिए। क्योंकि अश्वगंधा में मौजूद ऑक्सीडेंट हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है। और वाइट ब्लड सेल्स और रेड ब्लड सेल्स को भी बढ़ाता है।

  1. यौन क्षमता को बढ़ाएं

आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन आजकल की खराब जीवनशैली के कारण लोगों में यौन इच्छा कम होती है और विर्य की गुणवत्ता भी काफी खराब होती है। जिस वजह से बहुत सारे लोग संतान सुख से वंचित रहते हैं। अगर आप इस परेशानी से छुटकारा पाना चाहते हैं, तो अश्वगंधा का इस्तेमाल करना शुरू करें। क्योंकि अश्वगंधा एक शक्ति वर्धक औषधि है, जिसकी वजह से हमारे शरीर में वीर्य की गुणवत्ता बहुत बढ़ जाती है।

  1. आंखों की रोशनी बढ़ाए

अगर आपकी आंखों की रोशनी धुंधली है और आप आंखें बीमारी से परेशान हैं, तो नियमित रूप से अश्वगंधा का सेवन करने से आपकी आंखों की रोशनी बढ़ सकती है। लेकिन ज्यादा फायदे के लिए आपको रोज दूध के साथ अश्वगंधा लेना चाहिए। हमेशा मोबाइल का इस्तेमाल करने से भी आपकी आंखों की रोशनी कम हो सकती है।

  1. त्वचा के लिए फायदेमंद

एंटी एजिंग, घाव भरने के लिए और त्वचा में सूजन को कम करने के लिए कई लोग आज भी अश्वगंधा का इस्तेमाल करते हैं। और यह बेहद असरदार औषधि है, जिससे आप आसानी से इन सभी से राहत पा सकते हैं। अश्वगंधा में एंटी ऑक्सीडेंट गुण पाया जाता है, जो कि त्वचा के अंदर मौजूद फ्री रेडिकल्स से लड़कर उम्र के लक्षण जैसे की झुरिया और ढीली त्वचा को सही बनाता है।

अश्वगंधा के नुकसान – Side Effects of Ashwagandha

  • हमेशा अश्वगंधा का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले। क्योंकि अश्वगंधा का ज्यादा इस्तेमाल करने से पेट के लिए हानिकारक हो सकता है। इससे पेट में डायरिया की समस्या हो सकती है।
  • कई लोगों का यह भी कहना है कि अश्वगंधा का ज्यादा इस्तेमाल करने से उनको कई बार बुखार, थकान और शरीर में दर्द का अनुभव हो चुका है।
  • जो भी ब्लड प्रेशर का शिकार है मेरा मतलब जिन की बीपी लो है, उन्हें कभी भी अश्वगंधा का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया अनिद्रा के लिए अश्वगंधा का इस्तेमाल करना चाहिए। लेकिन हमेशा नींद के लिए अश्वगंधा का इस्तेमाल करने से आपके शरीर में बहुत हानि हो सकती है।
  • किसी भी बीमारी से लड़ने के लिए हमेशा अश्वगंधा को सही मात्रा में सेवन करना चाहिए, नहीं तो हम को उल्टी हो सकती है।

अश्वगंधा के उपयोग – Uses of Ashwagandha 

  • जिन लोगों को भी वित्तीय विकार की परेशानी है, उन लोगों को 1 ग्राम अश्वगंधा चूर्ण में 125 ग्राम मिश्री डालकर गुनगुने दूध से सेवन करना होगा। इससे उनकी वीर्य मजबूत हो जाती है।
  • पित्त प्रकृति वाला व्यक्ति कच्चे दूध के साथ 3 ग्राम अश्वगंधा चूर्ण का सेवन करें। वात प्रकृति वाला व्यक्ति शुद्ध 3 के साथ अश्वगंधा चूर्ण का सेवन करें और वही कफ प्रकृति वाला व्यक्ति गुनगुने पानी के साथ 1 साल तक अश्वगंधा चूर्ण का सेवन करें, इससे उन्हें फायदा पहुंचेगा।
  • अश्वगंधा की जड़ का चूर्ण 2 ग्राम की मात्रा  को जल के साथ लेने से आपके शरीर में सीने की दर्द कम हो जाएगा और अन्य रोग जैसे कब्ज की परेशानी भी नहीं होगी।

यह भी पढ़ें:

FAQ:

अश्वगंधा कब लेना चाहिए?

2 ग्राम अश्वगंधा पाउडर को गर्म दूध या पानी के साथ मिलाकर पीने से घटिया से राहत मिलता है। इसके अलावा नींद ना आने की समस्या और कमर दर्द में भी यह लाभदायक है।

अश्वगंधा से क्या फायदा है?

अश्वगंधा का सबसे ज्यादा इस्तेमाल मानसिक संतुलन को ठीक करने के लिए किया जाता है। इसी तरह से 70% मानसिक तनाव को कम किया जा सकता है।

अश्वगंधा का दूसरा नाम क्या है?

Withania somnifera और Winter Cherry यह दो नाम अश्वगंधा के अंग्रेजी में है।

अश्वगंधा से हाइट बढ़ती है क्या?

हा, अश्वगंधा का सेवन करने से हाइट बढ़ती है। 2 ग्राम अश्वगंधा पाउडर के साथ काले तिल, 4 खजूर और घी मिलाकर खाने से हाइट जरूर बढ़ेगी।

अश्वगंधा कहाँ मिलता है?

अश्वगंधा एक औषधीय फसल है, जो कि ठंडी जगह को छोड़कर हर जगह पाया जाता है। अश्वगंधा के पाउडर को आप ऑनलाइन ऑर्डर कर सकते हैं।

Write a Comment